भारत में 20 करोड़ किसान-मजदूर परिवारों के घर में अनाज नही है और केंद्र सरकार गेँहू का निर्यात कर रही है : उपेंद्र कुशवाहा

0
1050

कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी के दौर में भारत दवाई के निर्यात के साथ ही खाद्यान्न का भी निर्यात का निर्णय लिया है जो सरकारी एजेंसी नैफेड के माध्यम से निर्यात की जाएगी। तत्काल सरकार द्वारा गेँहू का निर्यात करने का फैसला ली गई है इसके तहद 50 हजार टन गेंहूँ का निर्यात अफगानिस्तान को और 40 हजार टन लेबनान को किया जाएगा।

रालोसपा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय उपेंद्र कुशवाहा जी ने सरकार द्वारा खाधान्न की निर्यात को लेकर अपनी ट्वीट के माध्यम से प्रतिक्रिया व्यक्त की है उनके अनुसार Corona व Lockdown के कारण भारत में 20 Cr. किसान-मजदूर परिवारों के घर में अनाज की अनुपलब्धता रहने की संभावना है। वर्तमान में लोग भुखमरी के शिकार हो ही रहे हैं। ऐसे में narendramodi सरकार द्वारा विदेशों को गेहूं का निर्यात ठीक नहीं। कृपया पुनर्विचार करें।

इस तरह से देश कोरोना के महामारी से देश जूझ रहा है और लॉकडाउन से किसानों, मजदूरों, गरीबों में भुखमरी का अकाल उत्पन्न होने की सम्भावनाओ के बीच में अगर देश के लोगों पर ध्यान न देकर सरकार विदेशों पर ध्यान देती है तो देश के गरीबों का क्या होगा।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here