बिहार की सियासत में एक बार फिर करवट तब ली जब रालोसपा के पुराने सहयोगी अरुण कुमार ने ‘नीच’ कहे जाने के मामले में उपेंद्र कुशवाहा के समर्थन में आए।

उन्होंने मीडिया से बातचीत में साफ तौर पर कहा जिस तरह से कुशवाहा समाज के ऊपर नीतीश कुमार ने इतनी गिरी हुई टिप्पणी की है जिससे वह आहत है और साथ ही बिहार में जिस तरीके से कुशवाहा जाति के लोगों के साथ व्यवहार किया गया और साफ तौर पर गिरी हुई राजनीति का परिचायक है। साथ ही उन्होंने कहा कि जिस तरह से नीतीश कुमार ने जो शब्द का प्रयोग किया है उनके लिए उनको कुशवाहा समाज से माफी मांगनी चाहिए । उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जिस प्रकार से नीतीश कुमार का एंकर से व्यवहार था वह बिल्कुल ही अहंकार और सामंती सोच की धारा की बात है।

 बिहार के नेता सुशील मोदी को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि जिस तरह से वह नीतीश जी का बचाव कर रहे हैं इससे स्पष्ट होता है कि वह दरबारी की तरह नीतीश के हर चीज में हां बोलते हैं चाहे गलत हो या सही हो । सुशील मोदी को बाहरी बताया और कहा वह तो एक कपड़ा व्यापारी के रूप  राजस्थान से बिहार आया।

अब देखना यह होगा कि राजनीतिक किस और मोड़ लेती है शायद फिर से अरुण कुमार अपनी पुरानी सहयोगी उपेंद्र कुशवाहा के पास आना चाहते हैं या कुछ और मनसा है या कुछ दिन बाद की क्लियर हो जाएगा। बिहार की राजनीतिक अभी पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हो पा रहा है की उपेंद्र कुशवाहा जी की पार्टी को कितनी सीट बीजेपी की तरफ से दिया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here