गुजरात के मेहसाणा जिले में वहां के फैक्टरियों में काम करने वाले बिहार एवं उत्तरप्रदेश के मजदूरों के साथ मारपीट के बाद उन्हें दो दिन के अंदर अपने अपने राज्यों में वापस पलायन करने की धमकी दी जा रही है। करीबी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गुजरात के हिम्मतनगर में 14 माह की बच्ची के साथ रेप की घटना में एक बिहारी का नाम सामने आने पर वहां के स्थानीय लोगों ने ठाकोर सेना नामक संगठन के नेतृत्व में बिहार एवं यूपी के निर्दोष मजदूरों की पिटाई के बाद उनके घरों में तोड़फोड़ किया है और दो दिन के अंदर अपने राज्य पलायन करने की धमकी भी दी गयी है। इसी बीच बिहार के मजदूरों के साथ हो रही ज़्यादती से बेखबर बिहार और उत्तरप्रदेश सरकारों की कोई भी प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

गुजरात मे बिहार एवं उत्तर प्रदेश के मजदूरों के हिमायती उपेन्द्र कुशवाहा।

वहीं दूसरी तरफ रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय राज्यमंत्री श्री उपेन्द्र कुशवाहा ने मजदूरों के प्रति हो रहे अन्याय का संज्ञान लेते हुए सबसे पहले अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रूपानी से मज़दूरों का पलायन रोकने एवं स्थानीय लोगों से शांति की अपील करने को कहा है। श्री कुशवाहा ने सर्वप्रथम ट्वीट करते हुए कहा है कि “#बिहार एवं #उत्तप्रदेश के लोग #गुजरात की फैक्टरियों में कम मजदूरी लेकर अपने श्रम एवं कौशल से वहाँ के प्रादेशिक विकास में सहायक सिद्ध हुए हैं। मुख्यमंत्री श्री @vijayrupanibjpजी, @CMOGuj से अनुरोध है कि इन मेहनतकश कामगारों के पलायन को रोकने एवं स्थानीय लोगों से शांति की अपील करें।

मज़दूरों की सुरक्षा के प्रति संज्ञान लेकर श्री कुशवाहा ने यह साबित कर दिया है कि बिहार में ही नही बल्कि उत्तर प्रदेश में भी केवल उनकी पार्टी ही मज़दूरों के सुख-दुख में साथ दे सकती है और उनके अधिकारों की रक्षा के प्रति गम्भीर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here