संयुक्त राष्ट्र महासभा की 73 वीं अधिवेशन को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री श्री मति सुषमा स्वराज ने आज आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान की जमकर बखिया उधेड़ी और पूरे विश्व के सामने पाकिस्तान को आतंकवाद का समर्थक बताया।

श्री मति स्वराज ने अपने 22 मिनट के संबोधन की शुरुआत इंडोनेशिया में भूकंप से मारे गए 349 लोगों को श्रद्धांजलि देकर की औऱ उन्होंने यह भी कहा कि संकट की इस घड़ी में भारत इंडोनेशिया के साथ खड़ा है तथा उसे हरसंभव सहायता प्रदान करेगा।

इसके बाद, श्री मति स्वराज ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि पाकिस्तान से आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं हो सकती और आज पूरा विश्व जनता है कि पाकिस्तान 9/11 हमले के मास्टरमाइंड ओसामा बिन लादेन को संरक्षण दिया हुआ था,लेकिन अमेरिका सेना ने अपनी कुशलता का परिचय देते हुए उसे पाकिस्तान में ही मार गिराया।

आगे के संबोधन में उन्होनें संयुक्त राष्ट्र के ‘टिकाऊ विकास’ के लक्ष्य की प्राप्ति की दिशा में भारत सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों की चर्चा करते हुए कहा कि मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार द्वारा जन धन योजना,कौशल विकास योजना,स्वच्छ भारत योजना,प्रधानमंत्री आवास योजना,उज्ज्वला योजना,आयुष्मान भारत योजना आदि अनेक कल्याणकारी कार्यक्रम चलाये जा रहे है,जो 2030 तक ‘टिकाऊ विकास’ के लक्ष्य को पूरा करेगी।

श्री मति स्वराज ने यह भी कहा कि 26/11 मुम्बई हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद पाकिस्तान में चुनाव लड़ता है तथा सीमा पार से आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है तथा पाकिस्तान में आतकंवादियों को शहीद का दर्जा दिया जाता जो कि पूरे विश्व के लिये चिंता का विषय है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार बनने के बाद हम खुद द्विपक्षीय वार्ता के लिए इस्लामाबाद गए थे,लेकिन उसके कुछ ही दिनों बाद उरी में पाकिस्तान समर्थित आतंकवदियों ने हमला कर दिया।उन्होंने कहा कि पाक पीएम मोदी जी को शान्ति वार्ता के लिए पत्र लिखते हैं और इसके कुछ ही दिनों बाद हमारे एक जवान की बर्बरता से हत्या कर दी जाती है।इस तरह पाकिस्तान का यह दोहरा रवैया कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है और पूरे विश्व को आतंकवाद के खात्मे के लिए एक साथ आना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here