चुनाव के दिन नज़दीक आने के साथ ही सरकार ने मध्यवर्ग और निम्न मध्य वर्ग को रिझाने के लिए उन्हें बड़ी सौगात दी है. सरकार ने कई छोटी-छोटी बचत योजनाओं पर बड़ी राहत दी है. सरकार ने पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड, सुकन्या समृद्धि योजना, किसान विकास पत्र, एनएससी और कम अवधि वाले डिपाजिट स्कीम में निवेश करने वाले छोटे निवेशकों की झोली भरने का काम किया है।वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज बताया कि विभिन्न स्कीमों पर ब्याज की संसोधित दरें 1अक्टूबर से लागू होगीं।
वित्तीय वर्ष 2018-19 की तीसरी तिमाही के लिए विभिन्न स्कीमों पर मिलने वाली संसोधित ब्याज दरें इस प्रकार हैं:
(1) सुकन्या समृद्धि अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज की दरें 8.1%से बढ़ाकर 8.5%

(2) किसान विकास पत्र पर मिलने वाला ब्याज दर 7.3%से बढ़ाकर 7.7 %

(3)पीपीएफ अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर 7.6% से बढ़ाकर 8% किया गया है।

इसके अलावा सरकार ने ‘अटल बीमित कल्याण योजना’की शुरुआत की है।इस योजना के अंतर्गत जिन कर्मचारियों की नौकरी छूट जाती है,उसे फिर से नौकरी ढूंढने में मदद मिलेगी और पुनः नौकरी मिलने तक उसके एकाउंट में पैसा क्रेडिट किया जाएगा,हालांकि इस योजना का लाभ सिर्फ वही कर्मचारी ले सकते हैं, जो ‘कर्मचारी राज्य बीमा निगम'(ईएसआईसी)में पंजीकृत हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here