बिहार : उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता ने पिछले 1 सितम्बर से बिहार के सभी ज़िले मैं कर रही हैं दलित अतिपिछड़ा अधिकार सम्मलेन ,इस कार्यक्रम के लिए रालोसपा ने 6 टीमों बना सभी ज़िलों मे सफल कार्यक्रम कर रही है ,इसको देखते दूसरे पार्टी मे परेशानी बढ़ गयी हैं अब सभी पार्टी दलित महादलित को अपने तरफ लाने के कवायद तेज कर दी है 

अब बिहार में जदयू ने दलित-महादलित वोट बैंक को साधने की पुरजोर कोशिश शुरू कर दी है. जदयू महासचिव आरसीपी सिंह ने आज मंगलवार 18 सितंबर को प्रदेश कार्यालय में दलित प्रकोष्ठ के नेताओं के साथ बैठक की है. इस बैठक के दौरान दीवाली से पहले पूरे सूबे में दलित-महादलित सम्मेलन कराने की घोषणा की गई है. मिली जानकारी के अनुसार इस दलित-महादलित सम्मेलन कराने के लिए जदयू ने 6 टीमें बनाई है.

यह टीम बिहार के 38 जिलों में सम्मेलन करेगी. जिलों के बाद प्रमंडलों में भी सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा. बताया गया है कि इस दौरान दलित समाज के लोगों से संवाद कर उनकी समस्याओं को सुना जाएगा और उन्हें सरकार द्वारा उठाए गए कल्याणकारी कदमों की जानकारी दी जाएगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here