केंद्रीय गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को जम्मू में समग्र एकीकृत सीमा प्रबंधन व्यवस्था(सीआईबीएमएस)कार्यक्रम के तहत भारत पाक अंतराष्ट्रीय सीमा से सटे तीन जिलों में 5-5 किलोमीटर के दायरे में इलेक्ट्रॉनिक निगरानी तंत्र सीमा बाड़ का उद्धघाटन किया।

इस दौरान श्री सिंह ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि जवानों की सुरक्षा एवं सीमा पार से हो रहे घुसपैठ को कम करने के लिए चलाई गई एक महत्वाकांक्षी योजना है।उन्होंने कहा कि इस  प्रणाली के तहत लगाये गए इलेक्ट्रॉनिक यंत्र, अदृश्य बाड़ की तरह काम करेंगे और इन यंत्रों में विशेष प्रकार के आधुनिक सेंसर एवं कैमरे लगे हैं,जिसके द्वारा सीमा पर हवा,भूमि तथा जल के माध्यम से हो रहे किसी भी तरह के घुसपैठ एवं हलचल की निगरानी कंट्रोल रूम से 24 घंटे की जा सकेगी।

उन्होंने ने यह भी कहा कि आये दिनों सीमा पार से घुसपैठ के कारण हमारे जवान शहीद हो रहे हैं, लेकिन सीआईबीएमएस प्रणाली के लगने से हमारे जवान सुरक्षित रहेंगे और सीमा पर मानवरहित निगरानी की जा सकेगी।

साथ ही श्री सिंह ने यह भी कहा कि आगे चलकर इस  परियोजना के तहत पूरे 2026 किलोमीटर सीमा क्षेत्रों में इस तरह की जांच प्रणाली लगायी जाएगी और इस पर काम भी चल रहा है।

इस प्रणाली के उद्धघाटन के समय राजनाथ सिंह के अलावा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री श्री जितेंद्र सिंह, सीमा सुरक्षा बल के महानिदेशक श्री के के शर्मा एवं अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here